प्रेगनेंसी में किन बातों का ख्याल रखना चाहिए - Pregnancy Care Tips in Hindi - Pyar Me India

Sunday, June 23, 2019

प्रेगनेंसी में किन बातों का ख्याल रखना चाहिए - Pregnancy Care Tips in Hindi

Pregnancy me kin bato ka khayal rakhna chahiye - गर्भावस्था में ध्यान रखने वाली बातें - गर्भावस्था का समय किसी भी महिला के लिए आसान नहीं होता है। इसमें कई जोखिम और उतार-चढ़ाव हैं। इस दौरान तनाव और दर्द भी होता है। लेकिन Pregnancy परिवार के लिए एक विशेष समय है क्योंकि इस समय के बाद महिला एक नए सदस्य को Born देती है। दुनिया का सबसे अच्छा अनुभव गर्भावस्था और प्रसव है। हालांकि, इस बार एक महिला के लिए यह Simple नहीं है।

what should be taken care of in pregnancy


गर्भावस्था के दौरान Ma और Father दोनों पर जिम्मेदारियाँ होती हैं। हालांकि, इस समय के दौरान, एक Husband को अपनी Wife के साथ सहयोग करने की आवश्यकता होती है। यदि महिला को अपने Partner का समर्थन और देखभाल मिलती है, तो उसकी गर्भावस्था में उसकी गर्भावस्था बनी रहती है। गर्भावस्था के दौरान, महिला को इस तरह से अपने पति का समर्थन करना चाहिए।

pregnancy me kin bato ka khayal rakhna chahiye - गर्भावस्था में ध्यान रखने वाली बातें



डॉक्टर के पास जाएं - Go to Clinic

कोई भी महिला अकेले गर्भावस्था के तनाव को सहन नहीं कर सकती है। गर्भावस्था के दौरान Doctor के पास जाना सबसे महत्वपूर्ण काम है। इसलिए उसके साथ जाने के लिए डॉक्टर की नियुक्ति है। क्योंकि इसे रूटीन Checkup नहीं कहा जा सकता है, इसलिए पत्नी के साथ रहना जरूरी है। अपनी माँ की सेहत का ख्याल रखने के लिए, उसके बच्चे की सेहत के लिए डॉक्टर से बात करें।

याद रखना इस समय में छोटी सी गलती भी हानिकारक हो सकता है. इसलिए हर एक पति से निवेदन है की इस सिचुएशन में पूरा केयर करना.

pregnancy me kya dhyan rakhna - गर्भवती महिला की देखभाल



अजन्मे बच्चे की ज़रूरतों को ध्यान में रखना ज़रूरी है, लेकिन यह ज़रूरी है कि माँ के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखा जाए। गर्भावस्था के दौरान मां कई उतार-चढ़ाव से गुजरती है। इसलिए अपनी पत्नी की जरूरतों और उसके लिए महत्वपूर्ण चीजों पर विशेष Khyal रखें।


pregnancy me kya karna chahiye - प्रेगनेंसी में खुश रहने के उपाय


गर्भावस्था के दौरान Astrogen का Utsarjan अधिक होता है। इसके कारण Hormones बदल जाते हैं। ऐसी स्थिति में, साथी कभी-कभी बिना कारण के भावुक हो जाता है, कभी-कभी वह गुस्सा हो जाता है। ऐसे मामलों में, पति को धैर्य रखना चाहिए। अपनी पत्नी की भावनाओं को समझें और उसके अनुसार व्यवहार करें।


गर्भावस्था को यादगार बनाएं

गर्भावस्था के शुरुआती दिनों से लेकर अंत तक एक विशेष और यादगार समय बनाएं। कुछ लोग दबाव और तनाव में आ जाते हैं। यह मत करो।


pregnancy me kya kam nahi karna chahiye - गर्भावस्था में सावधानियां


इस दौरान हस्बैंड को यह ख्याल रखना चाहिए कि वह उसकी पत्नी को काम ज्यादा करने ही न दे. उनका पूरा ध्यान रखे. और सावधानिया भी रखे. छोटी सी खरोंच तक न आने दे पत्नी को. पेट में थोड़ी सी भी दर्द हो तो तुरंत हॉस्पिटल में जाये. ताकि सही समय इलाज मिल सके.

Subscribe Our Newsletter

2 comments:

  1. Top advice dear sir. Mujhe bahut achhi feel hui apki article padhke

    ReplyDelete


EmoticonEmoticon